PM Kisan Samman Nidhi
Latest Update

PM Kisan Samman Nidhi किसानों के खातों में 12वीं किस्त आने से पहले आया बड़ा अपडेट, यहां से जाने क्या है यह अपडेट।

PM Kisan Samman Nidhi किसानों के खातों में 12वीं किस्त आने से पहले आया बड़ा अपडेट, यहां से जाने क्या है यह अपडेट।

PM Kisan Yojana Date : केंद्र सरकार जल्द ही पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 12वीं किस्त के पैसे जारी करने वाली है। जिन लाभार्थियों ने ईकेवाईसी नहीं कराया है उन्हें इस बार पैसे के लिए काफी लेट हो सकता है।

PM Kisan Samman Nidhi

PM Kisan News : यदि आप पीएम किसान योजना की 12वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं तो यह खबर आपके लिए खास है। पीएम किसान की 12वीं की को लेकर हालचाल तेज हो चुकी है। और केंद्र की मोदी सरकार किसानों के खातों में पैसा ट्रांसफर कभी भी कर सकती है। अगली किस्त में ई–केवाईसी (e—Kyc) और गांव गांव हो रहे सत्यापन की वजह से देर हो रही है।

PM Kisan Samman Nidhi

इस बीच आपको योजना से जुड़ी बड़ी बात बता देते हैं। दरअसल पीएम किसान पोर्टल (pmkisan.gov.in) पर पहले ई–केवाईसी की अंतिम तारीख 31 अगस्त 2022 थी। अब डेट की बाध्यता खत्म कर दी गई है। पीएम किसान के पोर्टल के जरिए अब कहा जा रहा है कि ईकेवाईसी पीएम किसान की रजिस्टर्ड लोगों के लिए जरूरी है। ओटीपी बेस्ट केवाईसी पीएम किसान पोर्टल पर उपलब्ध है या आप अपने नजदीकी CSC सेंटर से Biometric आधारित eKYC करने में सक्षम है।

यह भी पढ़ें :  PM Kisan 12th Kist Today: आज कुछ ही देर के बाद किसानों के खाते में आएगी 12वीं किस्त का पैसे यहाँ से जल्दी चेक करे।

यदि आपने eKYC नहीं करवाया है तो बहुत ही आसानी से आप यह करवा सकते हैं। आइए हम आपको इसका तरीका बताते हैं आगे…

1. सबसे पहले अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर पीएम किसान पोर्टल
(http://pmkisan.gov.in) को ओपन कर ले।

2. इसके बाद स्क्रोल करते हुए नीचे आए। यहां फार्मर कॉर्नर पर सबसे पहले ई–केवाईसी नजर आएगा इस पर क्लिक कर दें।

3. अब एक नया बॉक्स खुल जाएगा। इसमें आप अपना आधार नंबर भर दे। यदि आपने e–KYC करा ली है तो एक मैसेज आएगा यदि नहीं हुई है तो आगे जैसा आप को निर्देश दिया जाएगा उसे करते जाएं।

PM Kisan Yojana : किस्त अटकने की वजह आप भी जाने

• बैंक खाते पर और आधार पर नाम की स्पेलिंग अलग अलग होने की वजह से आपके पैसे अटैक सकते हैं।

• आधार नंबर का सही ना होना एक कारण हो सकता है।
• बैंक खाता संख्या का सही ना होना भी पैसा अटकने की वजह हो सकती है।
• जेंडर सही नहीं होने पर जैसे कुछ बजा है जिसके कारण आपकी राशि अटकने की चांस है।

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी निकल के आ रही है 12वीं किस्त की पहले मिलेगा एक और फायदा।

ऐसे दूर कर सकते हैं आप अपनी परेशानी

• यदि आपको ऐसी समस्या है तो आप इसकी दिक्कतों को पीएम किसान पोर्टल के जरिए दूर करने में सच में है इसके लिए आपको अधिकारिक लिंक http://pmkisan.gov.in/को ओपन कंप्यूटर या मोबाइल पर ओपन करना होगा। आपका डिवाइस इंटरनेट से कनेक्ट होना जरूरी है।

• इसके बाद ’फार्मर कॉर्नर’ पर जाकर नीचे हेल्प डेस्क प्ले विकल्प को चुनने का काम करें।

• आपको किसी समस्या के बारे में बताना है, तो ‘रजिस्टर क्वैरी’ पर क्लिक कर दें।

• इसके बाद फिर अपना आधार नंबर या बैंक खाता संख्या या फिर मोबाइल नंबर भरकर ‘गेट डिटेल’ पर क्लिक कर दें।

• अब आपके सामने कई सारे कारण नजर आएंगे जैसे खाता संख्या सही ना हो, जेंडर सही ना हो… इनमें से अपनी समस्या को आप को चुनना होगा।

• इसके बाद फिर बॉक्स में अपनी समस्या के बारे में लिखें और कैप्चा कोड भरकर सबमिट करने का काम करें।

यह भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana: सभी किसान भाइयों एवं बहनो को मिलेगी 6000 रूपये की सलाना यहाँ से मिलेगी जानकारी।।

• फिर आप ’Know the query Status’ पर क्लिक कर दें और फिर आधार नंबर मोबाइल नंबर या बैंक खाता संख्या डालकर अपनी शिकायत का स्टेटस देख सकते हैं।

• 12वीं किसके कब तक आने के आसार

यहां से चेक करे अपना पैसाClick Now 

योजना से जुड़े लाभार्थियों यानी पात्र किसान को 12वीं किसका इंतजार है। नियमों के हिसाब से 12वीं किस्त के पैसे अगस्त माह से नवंबर महीने के बीच किसानों के खातों में डाले जाते हैं। हालांकि मीडिया रिपोर्ट में जो बात कही गई है उसके अनुसार तो सितंबर महीने में यह केंद्र की मोदी सरकार जारी कर सकती है। आपको बता दें कि आप तक पीएम किसान योजना के अंतर्गत 11वी किस्त के खाते में आ चुकी है। वही अब 12वीं किस्त जारी की जाएगी। 12वीं के स्तर में भी 2 हजार रुपए किसानों के बैंक खाते में भेजे जाएंगे।

हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आप लोग सब कुछ अच्छे से समझ गए होंगे और भी इसी तरह की जानकारी के लिए जुड़े हमारे ग्रुप से—

WhatsApp Click
Telegram Click

Leave a Reply

Your email address will not be published.