Matric Exam Class- 10th Bihar Board
Latest News

Matric Exam Class- 10th Bihar Board Hindi बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा महत्पूर्ण ऑब्जेक्टिव सब्जेक्टिव हिंदी में

Matric Exam Class- 10th Bihar Board

1.’प्रेम अयनि श्री राधिका’ किनकी रचना है?

(A) गुरुनानक                    (C). रसखान

(B) प्रेमघन                        (D) घनानंद

2. रसखान किस काल के कवि हैं?

(A) आदिकाल                       (B) .भक्तिकाल

(C) रीतिकाल                        (D) आधुनिक काल

3. रसखान के सवैये की भाषा है

(A). ब्रज भाषा                      (B) अवधी भाषा

(D) खड़ी बोली                        (C) पूर्वी भाषा

4. रसखान कवि हैं

(A) राम भक्त                     (B). कृष्ण भक्त

(C) निर्गुण भक्त                 (D) इनमें से कोई नहीं

5. ‘रसखान’ ने प्रेमवाटिका की रचना कब की थी?

(A) 1605                            (B). 1610

(C) 1615                          (D) 1620

6. रसखान दिल्ली के किस राजवंश में उत्पन्न हुए थे?

(A) .पठान राजवंश                (B) मुगलवंश

(C) गुलाम वंश                       (D) खिलजी वंश

7. किस भक्त कवि को गोस्वामी विट्ठलनाथ ने पुष्टिमार्ग की दीक्षा दी?

(A) घनानंद                           (B) प्रेमघन

(C) गुरुनानक                        (D) .रसखान

Matric Exam Class- 10th Bihar Board

8. ‘प्रेमवाटिका’ किसकी रचना है?

(A) भारतेन्दु की                    (B) .रसखान की

(C) घनानंद की                    (D) प्रेमघन की

9. “इन मुसलमान हरिजनन पै कोटिन हिन्दू वारियै किस कवि के लिए कहा गया है?

(A) कबीरदास                    (B) मलिक मुहम्मद जायसी

(C) रहीम                            (D) .रसखान

10. ‘करील के कुंजन ऊपर वारौं’ के कवि हैं

(A) .रसखान                                  (B) भारतेन्दु

(C) घनानंद                                  (D) गुरुनानक

11. कवि ‘करील के कुंजन’ किस पर अर्पण करने की अभिलाषा प्रकट करते हैं?

(A) नन्द पर                              (B) राम पर

(C) विठ्ठलनाथ पर                      (D). कृष्ण पर

12. कृष्ण भक्त कवि है

(A) गुरुनानक                    (B) .रसखान

(C) घनानंद                      (D) प्रेमघन

13. कवि रसखान का रचनाकाल किस मुगल शासक का राज्यकाल था?

(A) बाबर                                 (B) हुमायूँ

(C) अकबर                             (D) .जहाँगीर

14. कवि रसखान माली-मालिन किन्हें कहा है।

(A). राधा-कृष्ण को                                 (B) सीता-राम को

(C) पार्वती-शिव को                                 (D) इनमें से कोई नहीं

15. कवि रसखान चितचोर किसे कहा है?

(A). कृष्ण को                             (B) राम को

(C) नन्द को                               (D) विठ्ठलनाथ को

16. रसखान द्वारा कृष्ण-लीला का गान किया गया

(A) पदों में                       (C) दोहों में

(B) घनाक्षरी में                  (D). सवैयों में

 

Matric Exam Class- 10th Bihar Board

17. रसखान किस पर सैकड़ों इन्द्रलोक करने की बात करते हैं?

(A). करील की कुंजों पर                         (B) बलराम पर

(C) गोपियों पर                                      (D) राधा पर

18. रसखान दिल्ली से कहाँ चले गए थे?

(A) हरियाणा                  (B) पंजाब

(C) .ब्रजभूमि                 (D) वाराणसी

19. रसखान किस विषय से सिद्ध

(A) .सवैया-छन्द                  (B) कवित में

(C) मुक्तक में                   (D) रीतिमुक्त काव्यधारा में

20. ‘सुजान रसखान’ किनकी रचना है?

(A) सुजान की                               (B). रसखान की

(C) मियाजान की                          (D) नसीर की

21. कवि रसखान किस भाषा के कवि है?

(A) पंजाबी                  (B) अवधी

(C) अंगिका               (D) .ब्रजभाषा

22. कवि रसखान ने ‘प्रेम अयनि’ किसे कहा है?

(A) यशोदा को               (B) गोपियों को

(C) .राधा को                 (D) प्रेमिका को

23. रसखान दिल्ली से कहाँ चले गये थे?

(A) वाराणसी                 (B) प्रयाग

(C) मथुरा                       (D). ब्रजभूमि

24. गोस्वामी विट्ठलनाथ ने किस भक्त कवि को पुष्टि मार्ग की दीक्षा दी ?

(A) कबीर                              (B) गुरुनानक

(C). रसखान                        (D) घनानंद

25. भक्त कवि रसखान के किस ग्रंथ में कृष्ण की भक्ति संबंधी रचनाएँ है?

(A) .प्रेमवाटिका में             (B) सुजान रसखान में

(C) उपर्युक्त दोनों में           (D) इनमें से कोई नहीं

स्वदेसी

 

1. ‘स्वदेशी’ शीर्षक पाठ के रचनाकार हैं-

(A) रामघन                     (B) मालघन

(C) श्यामघन                  (D) .प्रेमघन

2. बदरीनारायण चौधरी प्रेमघन द्वारा रचित कविता कौन-सी है ?

(A) भारतमाता                       (B) .स्वदेशी

(C) जनतंत्र का जन्म               (D) हमारी नींद

3. ‘स्वदेशी’ कविता किससे संकलित है?

(A) .प्रेमघन सर्वस्व से                     (B) जीर्ण जनपद से

(C) भारत प्रयाग से                         (D) प्रयाग रामागमन से

4. बदरीनारायण चौधरी प्रेमघन का जन्म कब हुआ था?

(A) .1855                    (B) 1875

(C) 1860                   (D) 1845

5. परदेश की विद्या पढ़ने का क्या परिणाम हुआ?

(A) सबकी बुद्धि भारतीय हो गई

(B) .सबकी बुद्धि विदेशी हो गई

(C) सबकी बुद्धि आध्यात्मिक हो गई

(D) उपर्युक्त सभी

6. ‘प्रेमघन’ अपना आदर्श किसे मानते थे?

(A) महात्मा गाँधी                        (B) विवेकानंद

(C) रवीन्द्रनाथ टैगोर                   (D). भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

7. ‘आनंद कादंबिनी’ मासिक प्रत्रिका का संपादन है—

(A) भारतेन्दु ने                         (C) द्विवेदी ने

(B) .प्रेमघन ने                           (D) आचार्य शुक्ल ने

8. कवि प्रेमघन के अनुसार अब लोग किस भाषा का प्रयोग अधिक कर रहे हैं?

(A) हिन्दी                                  (B) मगही

(C) .अंग्रेज़ी                                (D) तमिल

9. प्रेमघन साहित्य सम्मेलन के किस अधिवेशन के सभापति रहे थे?

(A) बम्बई अधिवेशन                           (B). कलकत्ता अधिवेशन

(C) लखनऊ अधिवेशन                        (D) सूरत अधिवेशन

10. प्रेमघन जी कवि के साथ-साथ थे

(A) निबंधकार                                      (B) नाटककार

(C) समीक्षक                                        (D) .उपर्युक्त सभी

11. कवि प्रेमघन के अनुसार भारतीय हाट-बाजार किस सामान से भरा पड़ा है?

(A) स्वदेशी                           (B) देशी

(C) .अंग्रेजी                          (D) इनमें से कोई नहीं

12. ‘रसिक समाज’ की स्थापना किस कवि के किया था?

(A) भारतेन्दु                                  (B) घनानंद

(C). प्रेमघन                                   (D) रसखान

13. कवि के अनुसार क्या देखकर भारत में भारतीयता कुछ नहीं दिखती है?

(A) गति                                   (B) रति

(C) रीत                                (D). उपर्युक्त सभी

Matric Exam Class- 10th Bihar Board

14. कवि प्रेमघन के अनुसार भारत के लोग क्या बनकर खुशामद और झूठी प्रशंसा में लगे हैं?

(A) ढोलक                         (C) .डफली

(B) मृदंग                           (D) बाँसुरी

15. बोलि सकत…….. नहीं, अब मिलि हिन्दू लोग। अंग्रेजी भाखन करत, अंग्रेजी उपभोग।

(A) अंग्रेजी                                        (B) संस्कृत

(C). हिन्दी                                       (D) अवधी

16. स्वदेशी कविता में कवि को भारत में अब क्या दिखाई नहीं पड़ता है?

(A). भारतीयता                   (B) सदाचारिता

(C) मानवता                       (D) स्वतंत्रता

17. ……..भारती देखि कोउ, सकत नहीं पहिचान, मुसल्मान, हिन्दू किधौं के हैं ये क्रिस्तान ।

(A) .मनुज                  (B) मनुष्य

(D) तनुज                   (C) मानुष

18. प्रेमघन का जन्म कहाँ हुआ था?

(A) वनारस                      (B) डुमराँव

(C) लखनऊ                 (D). मिर्जापुर

19. प्रेमघन के किस काव्य में ग्रामीण जीवन का यथार्थवादी चित्रण है?

(A) भारत सौभाग्य                  (B). जीर्ण जनपद

(C) प्रयाग रामागमन               (D) प्रेमघन सर्वस्व

20. भारतेन्दु युग के महत्त्वपूर्ण कवि थे।

(A) .प्रेमघन                    (B) घनानंद

(C) रसखान                  (D) पंत

21. प्रेमघन काव्य और जीवन दोनों क्षेत्रों में किसे अपना आदर्श मानते हैं?

(A) द्विवेदी को                   (B) निराला को

(C). भारतेन्दु को                  (D) प्रसाद को

22. पढ़ि विद्या परदेश की, बुद्धि विदेसी पाय । चाल-चलन परदेश की, गई इन्हें अति भाय।। प्रस्तुत पंक्ति किस कविता की है?

(A) भारतमाता                                  (B). स्वदेशी

(C) जनतंत्र का जन्म                        (D) हिरोशिमा

23. कवि प्रेमघन द्वारा अधिकांश काव्य रचना किस भाषा में की गयी है?

(A) संस्कृत                     (B). ब्रजभाषा और अवधी

(C) हिन्दी                       (D) उडिया

24. ‘हिन्दुस्तानी नाम सुनि, अब ये सकुचि लजाता’ पंक्ति किस कविता से उद्धृत है?

(A) भारतमाता                  (B) जनतंत्र का जन्म

(C) अक्षर ज्ञान                   (D) .स्वदेशी

25. “सबै विदेसी वस्तु नर, गति रति रीत लखात । कुछ न अब, भारत म दरसात। “

(A) राष्ट्रीयता                 (B) .भारतीयता

(C) मनुजता                  (D) आत्मीयता

26. साहित्य सम्मेलन के कलकत्ता अधिवेशन के सभापति थे

(A). बदरीनारायण चौधरी प्रेमघन

(B) रामधारी सिंह ‘दिनकर’

(C) सुमित्रानंदन पंत

(D) घनानंद

27. 1874 में ‘प्रेमघन’ ने किस समाज की स्थापना की ?

(A) आदर्श समाज                       (B) बुद्धिजीवी समाज

(C). रसिक समाज                 (D) कोई नहीं

28. प्रेमघन के प्रसिद्ध नाटक है

(A) .भारत सौभाग्य               (B) जीर्ण जनपद

(C) आनंद कादंबिनी              (D) नागरी नीरद

29. पढ़ि विद्या परदेस की, बुद्धि विदेसी पाय । चाल-चलन परदेस की, गई इन्हें अति भाय।। • प्रस्तुत पंक्ति किस कविता की है?

(A) भारतमाता                             (B) .स्वदेशी

(C) जनतंत्र का जन्म                     (D) लौटकर आऊँगा फिर

 

प्रश्न –

(क) ईश्वर द्वारा प्रदत्त मनुष्य का सबसे अनमोल उपहार क्या है?

(ख) मनुष्य अपने मन के गुप्त भावों को कैसे व्यक्त करता है?

(ग) हम अपने परिवेश को किस प्रकार संबोधित करते हैं?

(घ) संतों ने कैसी वाणी बोलने का परामर्श दिया है?

(ङ) संसार रूपी वट वृक्ष के दो फल कौन-कौन हैं?

उत्तर—

(क) ईश्वर द्वारा प्रदत्त मनुष्य का सबसे अनमोल उपहार उसकी वाणी है।

(ख) वाणी के द्वारा हम न केवल अपने मन की अतल गहराइयों के भाव व्यक्त करते हैं अपितु अपने परिवेश को वाणी द्वारा ही संबोधित करते हैं। इस प्रकार मनुष्य अपने मन के गुप्त भावों को अपनी वाणी द्वारा व्यक्त करता है।

(ग) हम अपने परिवेश को अपनी वाणी द्वारा संबोधित करते हैं।

(घ) संतों ने ऐसी वाणी बोलने का परामर्श दिया है जो औरों को शीतल करे और स्वयं को भी ठण्ढक पहुँचाये।

(ड़) संसार रूपी वट वृक्ष के दो अमृत तुल्य फल हैं-सरस प्रियवचन और सुसंगति

प्रश्न-

(क) अंग्रेजों ने भारत की एकता खंडित क्यों की?

(ख) अंग्रेजों ने हम पर किस प्रकार शासन किया?

(ग) अंग्रेजों ने भारतवर्ष पर लगभग कितने दिनों तक शासन किया?

(घ) अंग्रेजों ने भारतवर्ष में कौन सी नीति अपनाई?

(ड़) इस विषम परिस्थिति में हमें क्या करना चाहिए?

उत्तर-

(क) अंग्रेजों ने अपना प्रभुत्व जमाने और भारत में राज करने के लिए भारत की एकता खंडित की।

(ख) अंग्रेजों ने भारत में राज करने के लिए सर्वप्रथम यहाँ की एकता खंडित की । सनातन मूल्यों, आदर्शों और प्रतिमानों को नष्ट-भ्रष्ट किया। भारत की वैज्ञानिक संस्कृति के प्रति सुनियोजित तरीके से अनास्था के भाव उत्पन्न करते हुए भोली-भाली जनता को बहकाया एवं फूट डालो और राज करो की नीति अपनाकर शासन किया।

(ग) अंग्रेजों ने भारतवर्ष पर लगभग दो सौ वर्षों तक शासन किया।

(घ) अंग्रेजों ने भारतवर्ष में फूट डालो और राज करो की नीति अपनाई।

(ङ) इस विषम परिस्थिति में हमें आज जाति, धर्म और क्षेत्रवाद से ऊपर उठकर मिलजुल कर रहना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.